आपने सुना होगा केले खाना सेहत के लिए कितने अच्छे होते है लेकिन क्या आपको पता है कि कच्चे केले खाना इस से भी कई गुना ज्यादा फायदेमंद होता है। कच्चे केले में भरपूर मात्रा में पोटेशियम और मैग्नीशियम उपस्थित होता है जो कि बल्ड प्रेशर और डाइबटीज के रोगियों के लिए रामबाण इलाज है। तो आज इसी विषय के बारे में बात करेंगे कि कच्चा केला कितना लाभदायक होता है।
सुबह उठ कर दूध के साथ केले खाना बेहद लाभदायक माना जाता है क्योंकि यह कम समय मे पच जाता है तथा यह पूरी तरह से एक एनर्जी का भंडार है। इसके साथ-साथ कच्चे केले खाना भी बेहद ज्यादा फायदेमंद होते है। भारत मे कई इलाके ऐसे है जहाँ कच्चे केले की सब्जी भी बनाई जाती है, नहीं हो रहा न आपकों यक़ीन? लेकिन यह एक सत्य है और कच्चे केले की सब्जी बेहद स्वादिष्ट होती है। अगर आप उबले हुए केले का इस्तेमाल करते है तो आप हष्ट-पुष्ट रहेंगे। कच्चे केले में ढेर सारे पोषक तत्व उपस्थित होते है जो कि एक पक्के केले में भी नहीं होते है। कच्चे केले में भरपूर मात्रा में स्टार्च उपस्थित होता है तथा शुगर की मात्रा नगण्य होती है। इसी के चलते यह शुगर के मरीज़ों के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है।

1.पेट की बीमारियों को जड़ से खत्म करता है।
कच्चे केले में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है जिसके फलस्वरूप यह पेट के लिए रामबाण इलाज है। कच्चा केला पेट सारी दिक्कत याने की कब्ज़ और पाचन क्रिया को कुछ ही पलों में दूर कर देता है। कच्चा केला खाने से मल ठीक से साफ होता है एवं पेट मे दर्द भी नहीं होता है।

2.डायरिया से रक्षा
एक रिसर्च में पता चला है कि नियमित रूप से कच्चे केले खाने से डायरिया जल्दी ठीक होता है। क्योंकि हम सब जानते है कि कच्चे केले को पचाने में इतना कष्ट नहीं होता है और इसमें कई मात्रा में पोटेशियम पाया जाता है जो कि उल्टी और दस्त में बेहतर साबित होता है।

3.वज़न घटाने में रामबाण
कच्चे केले में भरपूर मात्रा में रेसिस्टेंट स्टार्च पाया जाता है, और इसी के चलते वज़न भारी मात्रा में घटने लगता है। अगर आप चाहते है कि आपका वज़न तेज़ी से कम हो तो आप नियमित रूप से कच्चे केले का एवम कच्चे केले से बनी डिशेज़ का भरपूर सेवन करें। कच्चे केले में कैलोरी कम उपस्थित होती है तथा पानी बेहद मात्रा में उपस्थित होता है जिसके चलते आपका वज़न काफी कम होने लगता है और यह आपके लिए एक फायदे का सौदा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.