छोटे बच्चों को खाना खिलाना मतलब मौत से टक्कर लेना बराबर ही है। मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूँ क्योंकि छोटे बच्चें आसानी से खाना नहीं खाते है, ज्यादातर बच्चे घर का खाना न खाकर बल्कि बाहर का चटपटा खाना खाना बेहद पसंद करते है। बच्चों का अगर समय पर विकास करना है तो उन्हें हेल्दी खाना खिलाना बेहद जरूरी हो जाता है। जो माँ-बाप अपने बच्चें का ध्यान नहीं रख पाते उनके बच्चें दुबले-पतले होते है तथा उनका शारिरिक विकास रुक जाता है। अगर आपके बच्चें घर का खाना न खाने की ज़िद करते है तो आप कुछ ऐसी टिप्स और ट्रिक्स आजमा सकते है जिस की आपका बच्चा घर का खाना खाने में आनाकानी नहीं करे।

आइये जानते है ऐसी ही टिप्स और ट्रिक्स के बारे में –

1.बड़े और बच्चों में खाने का पैटर्न अलग-अलग होना
जहाँ पर एक हट्टा-कट्टा नौजवान आदमी दिन में चार बार खाना खाता है वहीं पर एक छोटा बच्चा दिन भर खाना खाना पसंद करता है। वयस्क आदमी सुबह का नाश्ता, उसके बाद दोपहर का खाना, शाम का नाश्ता और फिर डिनर करता है लेकिन बच्चों में ऐसा नहीं होता है, क्योंकि बच्चें दिन में कुछ न कुछ खाते ही रहते है। जब भी आप अपने बच्चें को खाना खिलाने बैठे थोड़ा-थोड़ा करके खाना खिलाए और जोर जबरदस्ती न करें। इस से बच्चे को खाना खिलाना आसान हो जाता है।

2.टीवी और मोबाइल से दूर रखें
बच्चों को खाना खिलाने से पहले टीवी और मोबाइल से दूर कर दे क्योंकि अगर टीवी के सामने अगर आप बच्चे को खाना खिलाने ज़िद करती हो तो बच्चे खाना नहीं खाएंगे। इसलिए जितना हो सके बच्चों को खाना खिलाते समय इन चीजों से दूर रखें। अगर आप चाहे तो आप बच्चे को दूसरे कमरे में ले जाकर भी खाना खिला सकती है इसमें बच्चा आनाकानी भी नहीं करेगा एवम बच्चे का पूरा ध्यान सिर्फ ओर सिर्फ खाने पर होगा। हमेशा इस बात का ध्यान रखे कि बच्चों को ज्यादा खाना न खिलाएं। ज्यादा खाना खाने से उन्हें उल्टी भी हो सकती है। माता-पिता को ध्यान रखना चाहिए कि वो लोग उन्हें ज़िद करके या डांटकर के खाना न खिलाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published.